roorkeecityonline.com
PREVIOUS - HOME - NEXT

जिस समय रुड़की शहर में गंग नहर का निर्माण शुरू हुआ तब यह सुझाव आया कि जब नहर नदी के ऊपर प्रवेश करेगी तब दो शेर नहर का स्वागत करेंगे और जब ये नहर नदी को पार कर लेगी तब दो शेर नहर को विदा करेंगे| ये चारो शेर आज भी मुस्तैदी से गंग नहर की रखवाली कर रहे हैं और रुड़की शहर की शान हैं| बहुत कम लोग जानते हैं कि इन चारो शेरों के निर्माण से पहले एक और शेर का निर्माण किया गया था नमूने के तौर पर| ये शेर आज भी रुड़की शहर में मौजूद है| ये शेर मलकपुर चुंगी के पास St. Andrew's Church के पास स्तिथ है| इन्ही शेरों की प्रेरणा से लन्दन में भी सत्रह साल बाद एक काले शेर की मूर्ती स्थापित की गयी थी| आईये देखते हैं इन सभी शेरों की तस्वीरें|

रूडकी शहर में नहर के किनारे स्थित दो शेर
रुड़की से कलियर शरीफ की तरफ जाते हुए दो शेर
St. Andrew's Church के पास स्थित शेर
लन्दन के ट्रेफ्ल्गर स्क्वायर में स्थित काला शेर
लन्दन के ट्रेफ्ल्गर स्क्वायर में स्थित काला शेर
 
PREVIOUS - HOME - NEXT
roorkeecityonline.com