roorkeecityonline.com
PREVIOUS - HOME - NEXT
रुड़की में इंजीनियरी कौशल का बेहतरीन उदाहरण है सोलानी नदी पर बना जलसेतु| 1847-49 में बनें इस डाटदार पुल (arch bridge) के नीचे सोलानी नदी और ऊपर गंगा नहर बहती है| इसमें 50 फुट पाट की 15 डाटें हैं, जिनके ऊपर से होकर 164 फुट चौड़ी और 10 फुट गहरी नहर सोलानी नदी को पार करती है। इस नहर का तीन मील से अधिक भाग पक्की चिनाई का है| ऐसा कहा जाता है कि पहली बार में असफल होने पर इंजीनियर कोटले ने इस पुल का पुनः निर्माण कराया और नहर में पानी छोड़े जाने से पूर्व वे पुल के नीचे कुर्सी डालकर बैठ गए ताकि यदि वे पुनः असफल हुए तो खुद भी वहीं समाधिस्थ हो जाए| कुछ वर्ष पूर्व एक और नए पुल का निर्माण करके नहर को बड़ी खूबसूरती से दो भागों में बांटा गया| बरसात के दिनों में सोलानी नदी पानी से भर जाती है तथा बहुत ही खूबसूरत दृश्य दिखाई देता है|
सोलानी नदी का पुल
सोलानी नदी का पुल
पुरानी गंगा नहर
नयी गंगा नहर
पुरानी और नयी गंगा नहर का संगम और बीच में स्थित गंगा माता मंदिर
PREVIOUS - HOME - NEXT
roorkeecityonline.com